वैलेंटाइन डे का इतिहास 2022 - Valentine's Day History in Hindi

हैलो फ्रेड्स कैसे हो उम्मीद करता हूँ की आप सब बढ़िया ही होंगे, फ्रेड्स वैलेंटाइन डे वैश्विक त्योहार में से एक है. जैसा कि आप जानते ही हैं कि जल्द ही वैलेंटाइन डे 2022 आ गया है जिसका हम सबको बेसब्री से इंतजार था और आज वो दिन हमारे नजदीक है.

वैलेंटाइन डे सिर्फ एक नाम ही नहीं है बल्कि प्रेम का प्रतीक है जो समाज में प्रेम को बढ़ावा देता है. जिसका इतिहास वर्षों पुराना है फ्रेड्स आज हम वैलेंटाइन डे का इतिहास जानने वाले हैं जिसके बारे में आप शायद ही जानते होंगे, तो चलीए जानते हैं कि वैलेंटाइन डे का इतिहास क्या है?

The History of Valentine's day Wikipedia, Details, Facts, Origin, Story, Cards Celebration, Originstory, History facts, Meaning, and More all Valentine's day History in Hindi

वैलेंटाइन डे का इतिहास - Valentine's Day History in Hindi
Valentine's Day History in Hindi

वैलेंटाइन'स डे फैक्ट्स एंड हिस्ट्री: वैलेंटाइन डे खासकर संत वेलेंटाइन को उन्हें सम्मान और आदर्श देने के लिए मनाया जाता है. इसकी स्थापना पोप गेलैसियस पर्व के अंतर्गत 496 ईस्वी में की गई थी. जो प्रति वर्ष 14 फरवरी को संत वेलेंटाइन को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है. आपको बता दें कि संत वेलेंटाइन की मृत्यु 269 ईस्वी में हुई थी. संत वैलेंटाइन समाज में प्रेम को बढ़ावा देते थे. जिन्हें याद करने के लिए वैलेंटाइन डे 14वीं और 15वीं ईस्वी में प्रेम से जोड़ा गया था. उसके बाद 18वीं शताब्दी में इंग्लैंड में वैलेंटाइन पर प्यार के जोड़ो ने फूल देना, तोफे देना और वैलेंटाइन कार्ड्स देना आदि आरंभ कर दिया था उस समय के बाद यह परम्परा इतनी विकसित हुई जिसका असर पूरे विश्व में फैल गया जिसके कारण आज भी वैलेंटाइन डे उसी प्रकार मनाया जाता है जिस तरह उसकी शुरुआत इंग्लैंड में हुई थी.


Valentine's Day History in Hindi | वैलेंटाइन डे का इतिहास 2022

वैसे तो वैलेंटाइन डे मनाने का इतिहास काफी पुराना है. लेकिन आज हम वैलेंटाइन डे का इतिहास 2022 में क्या है यह जानने वाले Valentine's Day History 2022 in Hindi तो चलीए एक जलक वैलेंटाइन डे त्योहार के इतिहास पर डालते है. वैलेंटाइन डे क्रिश्चियन समुदाय के शहीदों में से संत वैलेंटाइन की यादों को यादगार बनाने के लिए मनाया जाता है. इसलिए इसे ईसाइयों का प्रमुख त्योहार माना जाता है इस दिन संपूर्ण विश्व में अवकाश होता है.

वैलेंटाइन डे मनाने का मुख्य उद्देश्य यही है कि विवाहित प्रेमी एक दूसरे से अपनी भावनाएं व्यक्त करें और प्रेम को ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा दिया जाए ताकि समाज एक साथ प्रेम बंधनों में बंधा रहे. वैलेंटाइन न सिर्फ एक देश का त्योहार है बल्कि यह विश्व प्रसिद्ध है जिसे पूरा विश्व एक साथ मनाता है. अंग्रेजी देशों में वैलेंटाइन डे को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है और इसे एक पारंपरिक तरीके से मनाया जाता है. पूर्वी रूढ़िवादी कुछ देशो में वैलेंटाइन डे 6 जुलाई और 30 जुलाई को मनाया जाता है.

वैलेंटाइन डे मनाने के लिए पहले प्राचीन समय में प्रेमी और प्रेमिका के रोमांटिक का कोई भी अर्थ मौजूद नहीं था. क्योंकि इसे रोमांटिक तरीके से मनाने की परंपरा तो 18वीं सदी में इंग्लैंड से शुरू हुई थी. वैलेंटाइन डे पर सबसे पहले प्रेमियों द्वारा ग्रीटिंग कार्ड भेजना, फूल पेश करना, प्यार का इजहार करना आदि इंग्लैंड से प्रारंभ हुआ था. जिसके चलते 19वीं शताब्दी में अंग्रेजी बोलने पूरे देश में यह प्रथा तेजी से बढ़ गई उसके बाद 20वीं और 21वीं शताब्दी में अन्य देशों में भी ठीक इसी वैलेंटाइन डे मनाने की प्रवृत्ति फैल गई.

14वीं ईस्वी के आसपास वैलेंटाइन डे सिर्फ और सिर्फ रोम में ही मनाया जाता था. कैथोलिक विश्वकोश कैलेन्डर में इसका उल्लेख किया गया है कि संत वैलेंटाइन को रोम में दफनाया गया था वो दिन 14 फरवरी का जो कैथोलिक कैलेन्डर में दर्शाया गया था. 1969ई को रोम ने संत वैलेंटाइन के डे को मनाने की प्रवृत्ति को कैथोलिक विश्वकोश कैलेन्डर से निकाल कर अन्य कैलेन्डरो में डाल दिया जिसके चलते संत वैलेंटाइन की जगह यह डे वैलेंटाइन डे के नाम से पूरे विश्व में मनाया जाने लगा.

वैलेंटाइन डे शब्द (Meaning) की उत्पत्ति संत वैलेंटाइन के नाम से हुई है क्योंकि शुरू-शुरू में ज्यादातर लोगों को संत वैलेंटाइन के बारे में इतना कुछ पता नहीं था और लोग उन्हें सिर्फ वैलेंटाइन नाम से ही जानते थे जिसके चलते हर जगह उन्हें वैलेंटाइन नाम से ही जाना जाने  लगा. आज भी उनके शहीदी दिन को वैलेंटाइन डे के रूप में जाना जाता है.



संत वैलेंटाइन का इतिहास | The History of Saint Valentine's day in Hindi

संत वैलेंटाइन का इतिहास रोमन देश से शुरू होता है. संत वैलेंटाइन की मृत्यु रोम में हुई थी जिसमें वह शहीद हुए थे. ऐसा कहा जाता है कि उनके साथ अफ्रीका में उनके अनेको साथियों को भी सहादत मिली थी. जो खासकर ईसाई धर्म के परिजन थे. उन्हीं की शहीदी के दिन प्रति वर्ष वैलेंटाइन डे मनाया जाता है. संत वैलेंटाइन ईसाई धर्म के अनुयायी रूप में एक पादरी थे. उनका क्रिश्चियन यानी कि ईसाई होने के नाते रोम के सम्राट क्लोडिअस द्वितीय द्वारा उन पर विरोध किया गया था. 

उसी विरोध के कारण रोम के सम्राट क्लोडिअस द्वितीय ने संत वैलेंटाइन से पूछताछ की और संत वैलेंटाइन को ईसाई धर्म छोड़ने की आज्ञा पर संत वैलेंटाइन इस बात से राजी नहीं हुए और उन्होंने उल्टा सम्राट क्लोडिअस को ईसाई धर्म अपनाने की बात कही. इससे प्रभावित होकर सम्राट क्लोडिअस ने संत वैलेंटाइन को अपने सैनिकों द्वारा जेल में बंद करवा दिया था. संत वैलेंटाइन ने जेल में जेलर की एक अंधी बेटी की आँखों को ठीक कर एक चमत्कार किया था कुछ दिनों बाद संत वैलेंटाइन को फांसी दे दी गई और वह शहीद हो गए.

संत वैलेंटाइन पर आधारित कहानियों और कथाओं में हर एक कहानी का अलग-अलग मत रहा है. ऐसा भी कहा जाता है कि संत वैलेंटाइन रोम के एक पादरी हुआ करते थे. तब रोम के राजा सम्राट क्लोडिअस द्वितीय ने एक कानून बनाया था जिसे रोम के सभी देशवासियों को मनाना अनिवार्य था लेकिन संत वैलेंटाइन ने उस कानून को मानने से इंकार कर दिया था. उसके बाद सम्राट क्लोडिअस द्वितीय ने फिर से एक कानून बनाया जिसमें यह कहा गया कि जवान लड़कों की शादी न की जाय.

सम्राट क्लोडिअस द्वितीय द्वारा यह कानून बनाने का मुख्य उद्देश्य यही था कि अपनी सैनिकों में वृद्धि हो, उनका यह मानना था की शादी शुदा सैनिक अच्छे नही होते है. सम्राट का हुक्म मानकर सभी लोगों ने जवान लड़कों की शादियाँ करना बंद कर दिया. जैसे ही यह बात संत वैलेंटाइन को पता चली तो उन्हें बहुत बुरा लगा. फिर पादरी संत वैलेंटाइन चुपके से लड़कों की शादियाँ कराने लगे. यह बात सम्राट क्लोडिअस द्वितीय को पता चल गईं

सम्राट ने अपने सैनिकों को भेजकर संत वैलेंटाइन को बंदी बना लिया और उन्हें सैनिकों द्वारा जेल में फेंक दिया गया. इसके कुछ ही दिनों बाद संत वैलेंटाइन को शहीद कर दिया गया था. इसके अलावा संत वैलेंटाइन के इन किस्सो में और भी कई सारे रहस्यमयी घटनाएँ जुड़ी है. यह भी कहा जाता है कि संत वैलेंटाइन ने मरने से एक रात पहले स्वयं अपना पहला "वैलेंटाइन" लिखा था जो जेलर की बेटी के लिए था. जिसमें यह लिखा हुआ था कि "तुम्हारे वैलेंटाइन"


वैलेंटाइन डे का सप्ताह | Valentine week history in Hindi

वैलेंटाइन डे मनाने की शुरुआत America से हुई थी. यह प्यार करने वालों के लिए बहुत स्पेशल डे होता है जो कि लगातार एक सप्ताह तक चलता है. पूरे सप्ताह में वैलेंटाइन को हर दिन अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है. दो प्यार करने वालों के लिए यह पूरा सप्ताह बहुत ज्यादा मायने रखता है. तो चलीए आगे बढ़ते हैं और जानते वैलेंटाइन डे सप्ताह के दिनों को की किस दिन कौन उत्सव मनाया जाता है.

  • 7 फरवरी, रविवार को रोज डे
  • 8 फरवरी, सोमवार को प्रपोज डे
  • 9 फरवरी, मंगलवार को चॉकलेट डे
  • 10 फरवरी, बुधवार को टेड्डी डे
  • 11 फरवरी, गुरुवार को प्रॉमिस डे
  • 12 फरवरी, शक्रवार को हग डे 
  • 13 फरवरी, शनिवार को किस डे
  • 14 फरवरी, रविवार को वेलेंटाइन डे      

7 फरवरी रोज डे (Rose Day): रोज डे वेलेंटाइन डे की शुरुआत का सबसे पहला दिन होता है. इस दिन जो कोई भी किसी से सबसे ज्यादा बेइंतहा मोहब्बत करता है उसे Rose देकर अपने प्यार का इजहार करता है इसलिए इस दिन को रोज डे नाम से जाना जाता है.

8 फरवरी प्रपोज डे (Propose Day): वेलेंटाइन डे शुरुआत के दूसरे 8 फरवरी को प्रपोज डे मनाते है इस दिन दो प्यार करने वालों एक को Propose करते और अपने प्यार का इजहार करते है.

9 फरवरी चॉकलेट डे (Chocolate Day): चॉकलेट डे वैलेंटाइन डे का तीसरा दिन होता है इस दिन अपने प्यार को चॉकलेट दी जाती है और अपने यादों को एक दूसरे के साथ शेयर किया जाता है.

10 फरवरी टेड्डी डे (Teddy Day): वैलेंटाइन डे का चौथा दिन टेड्डी डे का होता है. इस दिन दो प्यार करने वाले अपने पार्टनर को क्यूट सा टेड्डी देते हैं और एक दूसरे को विश करते है.

11 फरवरी प्रॉमिस डे (Promise Day): वैलेंटाइन डे पांचवाँ दिन सबके लिए खास होता है क्योंकि इस दिन अपने पार्टनर द्वारा पूरी जिंदगी एक साथ बिताने का वादा किया जाता है.

12 फरवरी हग डे (Hug Day): वैलेंटाइन डे का छठा दिन दो दिलों की धड़कन के लिए होता है इस दिन पार्टनर एक दूसरे को हग करते है और अपनी दिल की बातें एक दूसरे को शेयर करते है.

13 फरवरी किस डे (Kiss Day): किस डे 13 फरवरी को वेलेंटाइन डे के एक दिन पहले मनाया जाता है. इस दिन अपने पार्टनर को बांहो में भरकर उसे प्यार से Kiss किया जाता है.

14 फरवरी वेलेंटाइन डे (Valentine's Day): वेलेंटाइन मनाने के लिए सबसे अंतिम दिन वेलेंटाइन डे का होता है. इस दिन सब एक दुसरे के अपने हो जाते है.


दुनिया भर में वैलेंटाइन डे उत्सव और स्थिति History Behind Valentine's Day

वैलेंटाइन डे क्रिसमस के बाद दूसरा सबसे बड़ा वैश्विक त्योहार बन चुका है. वैलेंटाइन डे इंग्लैंड और रोमन की परंपरा है. अन्य देशों की तुलना कैथोलिक देशों में वैलेंटाइन डे सिर्फ संत वैलेंटाइन के लिए मनाया जाता है लेकिन इंग्लैंड में इसको प्रेमी और प्रेमिका के लिए भी जोड़ दिया गया. पश्चिमी देशों में वैलेंटाइन डे "सैन वेलेंटिन" के नाम से मनाया जाता है. इसके साथ ही डेनमार्क और नॉर्वे में वैलेंटाइन डे "वेलेंतिन्सदाग" नाम से मनाते हैं. ज्यादातर लोगों के पास इसे मनाने का समय नहीं होता है लेकिन इसे मनाने के लिए लोग समय निकालते है.

चीन में वैलेंटाइन डे को "द नाईट ऑफ़ सेवेंस" नाम दिया गया है जिसकी काफी पुरानी प्रथा है. जापान में वैलेंटाइन को ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार 7 जुलाई मनाते है और वहां इसे "तानाबाता" कहाँ जाता है. कोरिया में वैलेंटाइन डे को 'चिलसीओक' कहते है. वर्तमान में वैलेंटाइन को कोरिया में बहुत कम महत्व दिया जाता है. दक्षिण कोरिया में लोग वैलेंटाइन के दिन 14 फरवरी को चॉकलेट और गैर-चॉकलेट कैंडी देते है. इसके अलावा 14 फरवरी को कोई भी प्रेम संबंध नहीं मनाया जाता है.

ब्राजील में वैलेंटाइन डे 12 जून को मनाया जाता है. ब्राजील में वैलेंटाइन डे को 'प्रेमी' नाम से जाना जाता है और वहां जोड़े चॉकलेट, उपहार, कार्ड और फूलों आदि से आदान-प्रदान करते हैं. 14 फरवरी को ब्राजील में वैलेंटाइन्स डे बिलकुल भी नहीं मनाया जाता है. क्योंकि ब्राजील में इसे 12 जून को मनाने की परंपरा है. संयुक्त राज्य अमेरिका में वैलेंटाइन्स डे को बहुत महत्वपूर्ण त्योहार माना जाता है. यहाँ हर साल लगभग 190 मिलियन के आसपास वैलेंटाइन्स कार्डो की बिक्री की जाती है. 


भारत में वैलेंटाइन डे की स्थिति क्या है?

भारत में प्राचीन समय में 14 फरवरी को कामदेव की पूजा की जाती थी. इसी दिन वैलेंटाइन के चलते कामदेव पूजा धीरे-धीरे मध्य युग में बंद हो गई क्योंकि कामदेव की जगह इस वैलेंटाइन डे मनाया जाने लगा. जिसके रहते 1992 के बाद वैलेंटाइन डे टीवी चैनलों के माध्यम से पूरे देश में चर्चित हो गया जिसमें रेडियो कार्यक्रम और एमटीवी इसके प्रमुख हिस्सेदार है. 

भारत में वैलेंटाइन डे के लिए अभी भी विरोध किया जा रहा है. इसका विरोध करने के साथ ही अधिकांश लोग मीडिया की भी आलोचनाएँ कर रहे हैं. जब भारत में वैलेंटाइन्स मनाया जाता है उस पर गौर किया गया तो पाया कि हिन्दू, मुस्लिम, ईसाई सब मिलाकर 68% लोग वैलेंटाइन्स को समर्थन नहीं देते है. लेकिन इतने विरोध के बाद भी भारत में भारत में वैलेंटाइन प्रसार-प्रचार तेजी से बढ़ रहा है.


Valentine's Day History FAQ in Hindi

1.Q वैलेंटाइन डे कब मनाया जाता है?

Ans. 14 फरवरी को.

2.Q वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है?

Ans. संत वैलेंटाइन की याद में.

3.Q वैलेंटाइन डे किसकी याद में मनाया जाता है?

Ans. संत वैलेंटाइन की.

4.Q वैलेंटाइन डे कितने दिनों का होता है?

Ans. एक सप्ताह का.

5.Q वैलेंटाइन डे की शुरुआत कहाँ से हुई थी?

Ans. रोमन देश से.

6.Q 14 फरवरी को कौन सा डे मनाते है?

Ans. वैलेंटाइन डे.

7.Q किस डे क्यों मनाया जाता है?

Ans. अपने पार्टनर को प्यार से Kiss करने के लिए.

8.Q रोज डे कब मनाया जाता है?

Ans. 7 फरवरी को.

9.Q प्रपोज डे कब मनाया जाता है?

Ans. 8 फरवरी को.

10.Q 13 फरवरी को कौन सा डे मनाया जाता है?

Ans. किस डे. 

11.Q ब्राजील में वैलेंटाइन डे कब मनाया जाता है?

Ans. 12 जून को.

12.Q वैलेंटाइन डे पर पहली छुट्टी की शुरुआत कहाँ की गई थी?

Ans. जापान में.


तो friends यह था आज टाॅपिक वैलेंटाइन डे का इतिहास Valentine's Day History in Hindi, आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएँ ताकि हम आपके लिए ऐसी ही informational जानकारी और भी लाते रहे और हां जानकारी को अपने दोस्तों में साझा करना न भूलें.


Read more:

Dramatalk

Hello! I am the founder of this blog and a professional blogger. Here I regularly share helpful and useful information for my readers.

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने