Janaki Jayanti 2022 - जानकी जयंती या सीता नवमी क्यों और कब मनाई जाती है जाने सही तारीख और दिन

Janaki Jayanti 2022 festival in hindi

जानकी जयंती एक ऐसा त्योहार है जो पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है. यह दिन विवाहित महिलाओं के लिए खास होता है क्योंकि इस दिन महिलाएँ अपनी पति की लम्बी उम्र के लिए माता सीता का व्रत रखती है. जानकी जयंती को सीता अष्टमी कहा जाता है. इसके अलावा लोग इसे सीता नवमी या सीता जयंती के नाम से भी जानते है. हालाँकि इस जयंती को मनाने के पीछे भी एक रहस्य चुपा है जो हम आगे के पृष्ठ में जानेगे.


Janaki Jayanti 2022: जानकी जयंती हर साल फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाती है, इस जयंती को खासकर माता सीता के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है. कहा जाता है कि जानकी जयंती पर माता सीता का व्रत रखने से घर में मंगलमय होता है और घर में चारों ओर सुख शांति का माहौल रहता है जिसके कारण हर त्योहार की तरह जानकी जयंती मनाना भी हमारे हिन्दू धर्म की एक परंपरा है.

जानकी जयंती लगभग पूरे देश में बड़े ही धूम-धाम से खुशियों के साथ मनाई जाती है. जानकी जयंती एक ऐसा त्योहार है जो अन्य त्योहारों की तरह भारत के कोने कोने में मनाया जाता है. जानकी जयंती के दिन माता सीता के भक्तगण उनके मंदिर में जाकर भगवान राम और माता सीता की पूजा अर्चना करते है, भजन करते है, उन्हें फूल चढ़ाते है, उन्हें पूजते है और कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित कर माता सीता के जन्मोत्सव को मनाते है.


जानकी जयंती 2022 में कब है

Janaki Jayanti 2022 में कब है यह जानने से पहले आपको बता दें कि जानकी जयंती प्रति वर्ष फाल्गुन कृष्ण को मनाई जाती है, जो हर साल फाल्गुन कृष्ण, अष्टमी तिथि के दिन 16:50pm से 15:05pm तक के समय के बीच मनाई जाती है. लेकिन अगर हम कैलेन्डरो के अनुसार देखे तो यह जयंती हर साल अलग-अलग तारीख को आती हैं जिसका कोई सटीक दिन निश्चित नहीं है. 2021 में जानकी जयंती 10 फरवरी को थी और 2022 में जानकी जयंती 24 फरवरी को है अब आप समझ गए होंगे कि 2022 में जानकी जयंती 24 फरवरी को मनाई जाएगी.


जानकी जयंती क्यों मनाई जाती है इसे मनाने का कारण

जानकी जयंती क्यों मनाई जाती है इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य यही है कि इस दिन माता सीता का जन्म हुआ था. इसलिए लोग माता सीता का जन्मोत्सव मनाने के लिए जानकी जयंती मनाते है. मान्यता है कि इस जयंती पर कुंवारी महिलाएँ माता सीता की पूजा करती है और एक अच्छे वर प्राप्ति की कामना करती है, विवाहित महिलाओं के लिए तो यह जयंती बहुत खास होती क्योंकि जानकी जयंती ज्यादातर विवाहित महिलाएँ ही मनाती क्योंकि इस दिन विवाहित महिलाएँ अपनी पति की आयु में वृद्धि हो ऐसी माता सीता से कामना करती है और उनके प्रति अपनी इच्छाए प्रकट करती है.


जानकी जयंती कैसे मनाई जाती है

हमारे हिन्दू धर्म में जानकी जयंती के दिन श्री जानकी या सीता की पूजा हमेशा गणेश जी, मां अंबिका और मां लक्ष्मी पूजा के साथ शुरू की जाती है. क्योंकि मां लक्ष्मी को भी माता सीता का ही रूप माना जाता है. इस दिन गणेश जी, अंबिका और लक्ष्मी पूजन के बाद माता सीता की विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है. माता सीता के साथ-साथ भगवान श्रीराम का भी पूजन किया जाता है. इस पूजा में माता सीता के भक्तगण उन्हें फूल, वस्त्र, श्रंगार चढ़ा कर पीले व्यंजनो का भोग लगाते है. इस पूजा को करने से वैवाहिक जीवन में सुख समृद्धि होती है, विवाह जीवन में आने वाली सभी अड़चने दूर हो जाती हैं, जीवन साथी की आयु लम्बी होती है और घर सभी प्रकार के कष्टों से छुटकारा मिलता है.

Janaki Jayanti 2022 - जानकी जयंती या सीता नवमी क्यों और कब मनाई जाती है जाने सही तारीख और दिन
Janaki Jayanti 2022


जानकी जयंती का महत्व

जानकी जयंती हमारे हिन्दू धर्म के प्रसिद्ध त्योहारों में से एक है. जिस प्रकार भगवान विष्णु के साथ देवी लक्ष्मी की पूजा, आराधना की जाती है ठीक उसी प्रकार भगवान श्रीराम के साथ माता सीता की पूजा की जाती है. जानकी जयंती को सबसे ज्यादा महत्व हमारे हिन्दू धर्म में दिया जाता है. जानकी जयंती त्योहार को अनेक नामो से जाना जाता है क्योंकि माता सीता का एक नाम नहीं अपितु अनेक नाम थे, जैसे भूमिपुत्री, भूसुता, जनकात्मज, जनकसुता, मैथिली आदि. जानकी जयंती को सीता जन्मोत्सव भी कहते हैं.


जानकी जयंती उत्सव (Festival)

जानकी जयंती का उत्सव पूरे देश में हर साल लाजवाब रहता है. खासकर महिलाओं को इस दिन का बेसब्री से इंतजार रहता है. महिलाएँ यह जयंती आने से पूर्व ही तैयारियाँ करने लगती है. जानकी जयंती के सुअवसर पर कुंवारी महिलाएँ और विवाहित महिलाएँ दोनों अपने पति के लिए सीता माता का व्रत रखती है. इस उत्सव पर मंदिरों में भगवान श्रीराम और माता सीता की पूजा की जाती है. लोग यह भी कहते हैं कि इस पूजा को श्रद्धा भाव से करने से हमारे पाप धुल जाते है और हर कोई इस पूजा से कोई न कोई फल की प्राप्ति जरूर करता है.


जानकी जयंती मनाने के पीछे का रहस्य, पटकथा

जानकी जयंती मनाने के पीछे सबके अलग-अलग मत है लेकिन आज हम जानकी जयंती मनाने की सबसे सटीक और वास्तविक कहानी से आपको रूबरू करवाने वाले है. पौराणिक मान्यताओं और रामायण के अनुसार: एक मिथिला नामक राज्य था, जहाँ पर कई सालों तक वर्षा नहीं हुई और उस क्षेत्र में अकाल पड़ गया था. उस वहां के राजा माता सीता के पिता जनक थे. अकाल के चलते उस क्षेत्र की स्थिति इतनी खराब हो गई जिससे राजा जनक काफी परेशान हुए. तब इस समस्या को हल करने के लिए ऋषियों ने राजा जनक को एक उपाय बताया कि आप स्वयं यज्ञ करके खेत में हल चलाओ यह सुनकर राजा जनक ठीक वैसा ही किया जैसे ऋषियों ने उन्हें बताया था. 

जब राजा जनक खेत में हल जोतने गए तब उनका हल खेत की मिट्टी में फंस गया. राजा जनक ने उस हल को बहार निकलने के लिए काफी प्रयास किए लेकिन जनक उस हल को निकाल नहीं पाए. फिर राजा जनक ने हल के चारों ओर जमी मिट्टी अपने सैनिकों से छाप करवाई. जैसे ही हल बहार निकला तो नीचे कलश में एक छोटी बच्ची निकाली, जिसे बहार निकलते ही मिथिला राज्य में वर्षा होने लगी. यह देख राजा ने अपनी कोई संतान न होने के कारण उसे अपनी पुत्री बना लिया तत्पश्चात उसका नाम सीता रखा गया था. जिसका जन्म कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को हुआ था.


जानकी जयंती से संबंधित सवाल | Janaki Jayanti FAQ in Hindi

Q.1 जानकी जयंती या सीता नवमी क्यों मनाई जाती है?

Ans. जानकी जयंती माता सीता के जन्मोत्सव मनाने के लिए मनाई जाती है.

Q.2 जानकी जयंती कब मनाई जाती है?

Ans. कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को

Q.3 जानकी जयंती 2022 में कब और कितने तारीख को है?

Ans. जानकी जयंती 2022 में  24 फरवरी को है.

Q.4 जानकी माता कौन थी?

Ans. माता सीता राजा जनक की पुत्री और भगवान श्रीराम की प्रिय पत्नी

Q.5 जानकी जयंती मनाने का मुख्य उद्देश्य क्या है?

Ans. माता सीता का जन्मोत्सव मनाना

Q.6 जानकी जयंती को किन किन नामों से जाना जाता है?

Ans. सीता नवमी, सीता जयंती, सीता अष्टमी आदि.

Q.7 जानकी जयंती के दिन किसकी पूजा की जाती है?

Ans. माता सीता और भगवान श्रीराम की

Q.8 जानकी या सीता का जन्म कब हुआ था?

Ans. कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को

Q.9 जानकी जयंती को सबसे ज्यादा महत्व कौन है?

Ans. हिन्दू धर्म जानकी जयंती को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है.


तो थी आज जानकारी Janaki Jayanti 2022 जानकी जयंती या सीता नवमी क्यों और कब मनाई जाती है सही तारीख और दिन, आपको यह जानकारी कैसी लगी प्लीज हमें कमेंट करके जरूर बताएँ क्योंकि हम आपके लिए हर रोज ऐसी जयंती और त्योहारों से संबंधित जानकारी लाते रहते है.


ये भी पढ़े:


Dramatalk

Hello! I am the founder of this blog and a professional blogger. Here I regularly share helpful and useful information for my readers.

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने